ledger in tally erp 9

 ledger in tally erp 9

यहाँ पर हम जानेंगे Ledger in tally erp 9 में कैसे Create करते है| ledger in tally erp 9 में किसी
ledger in tally erp 9
Vendor या Merchant या किसी Expenses का या Income का ledger ओपन करने के लिए आप को यहाँ पर ledger in tally erp 9 का इस्तेमाल करना है| हम आपको यहाँ पर ledger in tally erp 9 में कैसे ओपन करते है साथ में आपको Short cut यानि आप Payment Voucher की entry कर रहे है और वह नया Ledger कैसे ओपन करते है वह भी आपको यहाँ पर माहिती दी जाएगी| 

Ledger क्या है वह जानना बहोत जरुरी है| Ledger यानि किसी व्यक्ति या किसी company का किसी expenses या Income का ledger ओपन करते है| जिसका आपको एक Year में Transaction का हिसाब रखना होता है| जैसे की आपको आपने Bank में Cash Deposit की है तो आपको Bank Account का Ledger ओपन करना है |  उसे ledger in tally erp 9 में कैसे ओपन करते है वह जानकारी आपको दी जाएगी| 

Tally open करना है| Gateway of Tally पर से आपको Account Info. (Short Cut Key I प्रेस करना है|) बटन पर Click करना है| इसके बाद आपको Ledgers पर Click करना है| उसके बाद आपको Single ledger ओपन करना है तो आपको Single Ledger में आपको 3 Option मिलेंगे| 


Single Ledger : यहाँ पर आपको Single single ledger ओपन करना है तो आप single Ledger में दिए हुए बटन का इस्तेमाल करके आप Single ledger ओपन कर सकते है| जब आप Opening Balance Sheet tally erp 9 में लिखना है तो आप Single Ledger का इस्तेमाल कर सकते है| आप निचे देख सकते है Single ledger में बटन का कैसे इस्तेमाल कर सकते है| 

Create : create यानि नया ledger बनाना होता है| Create बटन पर click करना है|
ledger in tally erp 9
create 
ledger में आप किसी भी तरह का ledger बना सकते है| ledger बनाने के लिए आपको under Group क्या रखना है वह बहोत जरुरी है| ledger में आपको group सोच समज कर आपको select करना है| Group list Tally erp 9  आप Image में देख सकते है की Create ledger करने के लिए आपको Ledger की Information देनी है| 

Display : आप यहाँ पर अपने Create किये हुए ledger को सिर्फ देख सकते है| display यानि सिर्फ देखना होता है| आपको यहाँ पर जितने भी ledger ओपन किये है वह सिर्फ देख सकते है| 

Alter : Alter यानि आप ने बनाये हुए ledger में कोई Changes करना है| आप यहाँ पर ledger में नाम, Address और Pin Code सभी प्रकार का changes कर सकते है| 

हम यहाँ पर जानते है Ledger create करने के लिए किस तरह की माहीती आपको देनी है| ledger जिस व्यक्ति या company या Expenses या Income का ledger ओपन करते वक्त बहोत सी माहिती आपको देनी पड़ेगी| आइये हम जानते है| 

Create Ledger में आपको सबसे पहले आप जिनका ledger ओपन कर रहे है वह व्यक्ति या
ledger in tally erp 9
Company या vendor, Merchant या Expenses या Income का आपको यहाँ पर नाम लिखना है| जैसे की हम आप Jansari & Co का account ओपन करते है| वह पर आप jansari & Co का नाम लिखेंगे| jansari & Co का owner को आप Ketan kumar Jansari के नाम से भी जानते है तो आप (alias) में आप उनका owner का नाम लिख सकते है| उसके बाद आपको under में आपको jansari & Co का group कोनसा आएगा| आपको यहाँ पर  
Group list Tally erp 9 से आप select कर सकते है| जैसे की Jansari & Co आपका Vendor है ( आप उनसे Goods Products या Raw Material purchase करते है तो आपको Sundry Creditors Select करना है|  यदि आप उनको Goods का Sales कर रहे है तो आपको Sundry Debtors Select करना है| यदि आपने यहाँ पर Salary Expenses का Ledger बनाया है तो आपको Expenses Select करना है| उसके बाद आपको Inventory Values are effected ? यहाँ पर आपने जो ledger बनाया है वह आपको Inventory में effect आपने है| यदि आपको Inventory में effect करना है तो आपको यहाँ पर Yes करना है| Inventory effect यानि आपके कोई Expenses या आपने कोई Products का ledger बनाया है जो आपको Inventory में Costing करने के लिए चाहिए तो आपको यहाँ पर Yes select करना है| 

Currency Ledger : आपको यहाँ पर ledger में यदि आपका Dollar में यह किसी और की Currency में दिखाना है तो आप उस country का Currency select कर सकते है| वार्ना यहाँ पर आपको Indian Rupees select करना है| 

Maintain balance bill by bill : आपका vendor का ledger है और आप यहाँ पर Bill to Bill उनका ledger maintain करना चाहते है तो आपको यहाँ पर yes select करना है| जिससे आप जब भी Purchase या Sales bill की entry करोगे तब आपको Bill number देना पड़ेगा| लेकिन जब आप किसी bill के against में payment करोगे तब आपको वही bill select करना है जिससे आपको ledger में कितने bill का payment pending है वह भी report आपको मील जायेगा| 

Default Credit Period : आप अपने Vendor का Credit देना चाहते है तो आप यहाँ पर Day Select कर सकते है| जैसे की कुछ company 15 दिन Credit देती है उसके बाद वह Interest लगाती है तो आपको यहाँ पर Interest लेना चाहते है तो आप यहाँ पर Credit day लिख सकते है|  

Check for credit days during voucher entry ? : आप credit entry करते वक्त से आप credit day calculate करना चाहते है तो आपको यहाँ पर Yes select करना है| जैसे की आप पहले Delivery Challan की entry होती है| उसके बाद confirm होने के बाद उसका Tax Invoice बनाया जाता है| यहाँ पर आपको voucher entry करने के दिन से आपको Credit की Calculation करनी है या Challan Date से| उसके लिए आपको yes or No select करना है| 

Specify Credit limit : यहाँ पर आपको जिस Merchant को आपका Goods Sales करने का ledger create कर रहे है तो आप उस merchant को कितनी limit देना चाहते है| जैसे की credit पर कितने amount की credit देना चाहते है वह आपको यहाँ पर Credit लिखनी है| 

Inventory Values are effected : आप यहाँ पर ledger में इस ledger को inventory में effect करना चाहते है | जैसे की आप Purchase bill या sales bill की amount को inventory में stock में आप दिखना चाहते है तो आप यहाँ पर Yes और No select करना है| जैसे की Transport Expenses हो या Labor Salary आप चाहते है की यह Expenses Inventory में effect हो तो आपको यहाँ पर yes Select करना है| यदि आप नहीं चाहते तो आपको NO select करना है| 

Cost Center are applicable : यदी आप यहाँ पर इस ledger को cost center में रखना चाहते है| cost Center यानि आपकी बहोत product है और चाहते है की अलग अलग product पर आप costing करना चाहते है| तो आप यहाँ पर Cost Center active कर सकते है| 

Active Interest Calculation ? : यदि आप ने बनाया हुआ ledger में आप Interest calculation करना चाहते है तो आप यहाँ Yes select कर सकते है| जैसे की आपने किसी को पैसा लोन पर दिया है और आप उस Amount पर Day by Day Interest Calculate करना चाहते है तो आप यहाँ पर कर सकते है| 

Set/Alter Statutory Details : यानि आप ने जिस ledger बनाया है वह TDS deduction या TCS Deduction के लिए applicable है तो आपको यहाँ पर Yes Select करना है| उसके बाद आपको Yes किया है तो आपको वह पर TDS में Yes करते है तो आपको आगे Information देनी होगी| जैसे की Deductee Type कौन है| TDS Deduction Rate. उसके बाद आपको यहाँ पर PAN Number देना है| जब भी आपका TDS applicable होगा तब आपको system से जानकारी देगा की इस ledger का TDS Deduct करना है| TDS के जैसे की TCS में भी आपको इस ledger में applicable करना है तो आपको यहाँ पर Yes Select करना है और आपको PAN Number देना है| 

Malling Address : mailing Address  में आपको address लिखना है| जैसे की आपने किसी vendor या merchant का ledger create किया है तो आपको यहाँ पर Address लिखना है| क्योंकि जब आप Sales bill print करेंगे तो आपको sales bill में Address print होगा| यदि आप किसी Expenses या Income या Duties & taxes जैसे ledger create कर रहे है तो आपको address देना आवश्यक नहीं है| 

Country : आपको यहाँ पर vendor जहा का उनकी Country select करना है| यदि आपका Vendor या Merchant Foreign से है तो आप यहाँ उनकी Country select करना है| 

Provide Bank Details : यहाँ पर आप Vendor का Bank Details fill up करना चाहते है तो आपको यहाँ पर आप उनकी Bank Details लिख सकते है| आपको Online  Payment करना होगा तब भी आपको यह काम में आने वाला है| 

Tax Registration Details : आपको यहाँ पर Vendor का Tax related Information देनी है| जैसे की Vendor का PAN Number GST  Number, Excise Number सब information आपको देनी होगी| 
PAN Number : आपको यहाँ पर PAN Number देना है| यदि आपने यह ledger Vendor या किसी व्यक्ति के नाम से बनाया है तो आपको यहाँ पर PAN Number देना है| यदि आपके पास PAN Number नहीं है तो आपको नए PAN Number लेने के लिए यहाँ पर Click करे| PAN Application Online

Set/Alter GST Details : यदि आप इस ledger में GST का option activate करना चाहते है तो आप यहाँ पर Yes select करना है| यदि आपने Yes Select किया है तो आपको इस ledger में जो vendor है उसका GST number और वह Regular है या Composition scheme में है वह लिखना है| GST number के बारे में जानने के लिए है पर Click करे| Know about GST  .

Multi Ledger : आपको यहाँ पर यदि आप Multi ledger ओपन करना चाहते है| यहाँ पर आपको
Single Ledger की तरह सभी Information आपको single Ledger की तरह देनी नहीं पड़ेगी लेकिन आपको फिर अलग अलग से GST और address अलग से लिखना पड़ेगा| यहाँ पर आप Expenses और Income के Multi Ledger ओपन करने के लिए best है| आपको यहाँ पर पहले under Group यानि की आपको किस group में ledger ओपन करना है| वह Select करना है| यदि आप all Items select करोगे तो आपको अलग से Group select करना पड़ेगा| उसके बाद आपको Ledger नाम लिखना है| under Group में आपको Group Select करना है| उसके बाद आपको Opening Balance लिखना है तो आप लिख सकते है| जब आप Opening Balance Sheet लिखते है तब आप Multi Ledger बहोत ही काम में आता है| याद रखना Expenses और Income का कभी भी Opening Balance नहीं लिखते है| 


हमने आपको यहाँ पर Ledger in tally erp 9 में कैसे आपने करते है उसकी जानकारी आपको यहाँ पर दी गयी है| आपको यहाँ पर Single ledger को ledger in tally erp 9 में कैसे करते है| आप यहाँ पर ledger creation in tally erp 9 में आप ledger आपने कर सकते है वह जानकारी आपको यहाँ पर दी गयी है| आप learn online tally course सीखना चाहते है तो आप हमारी website को subscribe कर सकते है| 


Useful Links : 












0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

हमारी वेबसाइट पर आने के लिए धन्यवाद|
Tax देना भारतीय नागरीक का फर्ज है |

आप यहाँ पर आपके Question पूछ सकते है| उसके लिए Ask Question पेज बनाया है वह पर आप Question Comment कर सकते है|
हमारे Assistant आपके Question का उत्तर देने के लिए प्रतिबद्ध है |